Wednesday, December 1, 2021

विदेश मंत्रालय ने कहा- ताजा हालात पर नजर, सीमा विवाद के हल के लिये नेपाल से बातचीत के लिए भारत तैयार

Must Read

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत...

क्या योगी आदित्य नाथ उत्तर प्रदेश के चीफ मिनिस्टर दोबारा बनने चाहिए?

नयी दिल्ली। भारत ने संकेत दिया कि वह पारस्परिक संवेदनशीलता और सम्मान के आधार पर नेपाल के साथ सीमा विवाद सुलझाने के लिये बातचीत को तैयार है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत नेपाल में ताजा हालात पर नजर रखे हुए है। नेपाल ने लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को अपने क्षेत्र में दिखाते हुए एक नया मानचित्र जारी किया है, हालांकि वह इसे वैधता देने के लिये संविधान संशोधन प्रस्ताव लाने की योजना से पीछे हट गया है। इसी को मद्देनजर रखते हुए श्रीवास्तव ने यह बात कही। उन्होंने ऑनलाइन मीडिया ब्रीफिंग में कहा, हमें पता है कि नेपाल में इस मुद्दे की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए इस पर ध्यानपूर्वक विचार किया जा रहा है। उन्होंने कहा, भारत ‍‍‍विश्वास के माहौल में आपसी संवेदनशीलता और सम्मान के आधार पर अपने सभी पड़ोसियों के साथ बातचीत के लिये तैयार है। यह एक सतत प्रक्रिया है और इसके लिए रचनात्मक और सकारात्मक प्रयासों की आवश्यकता है।

 

उन्होंने भारत द्वारा नेपाल के साथ गहरे ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और मैत्रीपूर्ण संबंधों में बहुत महत्व देने की बात भी कही। नेपाल ने भारत के साथ सीमा विवाद के बीच पिछले हफ्ते सामरिक रूप से महत्वपूर्ण लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा क्षेत्रों पर अपना दावा करते हुए देश का संशोधित राजनीतिक और प्रशासनिक मानचित्र जारी किया था। भारत ने नेपाल के इस कदम पर प्रतिक्रिया देते हुए बुधवार को स्पष्ट रूप से कहा था कि उसे किसी भी कृत्रिम विस्तार से बचना चाहिए। विदेश मंत्रालय ने कहा था कि नेपाल के संशोधित नक्शे में भारतीय क्षेत्र के कुछ हिस्सों को शामिल किया गया है और काठमांडू को इस तरह के अनुचित मानचित्रीकरण दावे से बचना चाहिए। इसके बाद नेपाल की संसद बुधवार को इस मानचित्र को अद्यतन करने को लेकर होने वाली चर्चा टाल दी थी और संविधान संशोधन से जुड़े विधेयक को अंतिम समय में कार्यसूची से हटा दिया गया था।

 

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन सोसायटी...

भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास—

अम्बेडकरनगर भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास--- रिपोर्ट अमित सिंह अम्बेडकरनगर खंड विकास अधिकारी से शिकायत के बावजूद भी ग्राम...

सिटीजन चार्टर के संबंध में ग्राम पंचायत चककोड़ार मे बैठक

  रिपोर्ट _अमित सिंह अम्बेडकरनगर  बृहस्पतिवार को ग्राम पंचायत चककोड़ार मे सिटीजन चार्टर के संबंध में बैठक की गई जिनमे ग्राम पंचायत के लोगों को सिटीजन...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -