Wednesday, December 1, 2021

CAA के खिलाफ DMK की मेगा रैली, द्रमुक की रैली का वीडियो बनाएंगी पुलिस…

Must Read

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत...

क्या योगी आदित्य नाथ उत्तर प्रदेश के चीफ मिनिस्टर दोबारा बनने चाहिए?

रैली के खिलाफ जनहित याचिकाओं की सुनवाई के दौरान यह अंतरिम आदेश दिया। इससे पहले, तमिलनाडु सरकार के वकील ने अदालत को सूचित किया कि पुलिस ने रैली की अनुमति नहीं दी है क्योंकि आयोजकों ने संपत्ति को कोई नुकसान होने या किसी प्रकार की हिंसा होने की स्थिति में जिम्मेदारी लेने को लेकर कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखाई।

 चेन्नई। मद्रास उच्च न्यायालय ने पुलिस को आदेश दिया है कि द्रमुक यदि अनुमति नहीं मिलने के बावजूद संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ सोमवार को प्रस्तावित रैली करता है तो उसका वीडियो बनाया जाए। अदालत ने रैली के खिलाफ जनहित याचिकाओं की सुनवाई के दौरान रविवार देर रात यह अंतरिम आदेश दिया। इससे पहले, तमिलनाडु सरकार के वकील ने अदालत को सूचित किया कि पुलिस ने रैली की अनुमति नहीं दी है क्योंकि आयोजकों ने संपत्ति को कोई नुकसान होने या किसी प्रकार की हिंसा होने की स्थिति में जिम्मेदारी लेने को लेकर कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखाई।

न्यायमूर्ति एस वैद्यनाथन और न्यायमूर्ति पी टी आशा की पीठ ने रैली रोकने से इनकार कर दिया और कहा कि लोकतांत्रिक देश में शांतिपूर्ण प्रदर्शन को रोका नहीं जा सकता क्योंकि यह लोकतांत्रिक ताने-बाने का आधार है। याचिकाकर्ताओं आर वराकी और आर कृष्णमूर्ति ने रैली आयोजित करने से द्रमुक को रोकने का अनुरोध करते हुए दावा किया था कि इस प्रकार के ‘‘अवैध’’ प्रदर्शनों से लोगों का जीवन प्रभावित होगा और इस रैली के हिंसक होने एवं अशांति पैदा होने की आशंका है जैसा कि दिल्ली एवं उत्तर प्रदेश समेत विभिन्न इलाकों में इसी प्रकार की रैलियों में हुआ है।

मामले को तत्काल सुनवाई के लिए लाए जाने पर सरकार की ओर से तर्क दिया गया कि द्रमुक ने रैली में हिस्सा लेने वाले लोगों की संख्या के संबंध में प्रश्न का उत्तर नहीं दिया और उसने उस व्यक्ति का नाम भी नहीं दिया जो सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान होने एवं कोई अप्रिय घटना होने की स्थिति में जिम्मेदारी लेगा। अदालत ने कहा, ‘‘प्रतिवादी के उत्तर से यह पता चलता है कि रैली/प्रदर्शन करने वाला राजनीतिक दल जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता और हमें लगता है कि पुलिस द्वारा पूछे गए सवाल प्रासंगिक हैं।’’ उसने कहा कि जिम्मेदार राजनीतिक दल ने जिस तरीके से प्रश्नों का उत्तर दिया है, उससे अदालत के दिमाग में यह आशंका पैदा होती है कि प्रदर्शन कर रहे नेता सम्पत्ति को किसी प्रकार का नुकसान होने या कोई अप्रिय घटना होने की जिम्मेदारी लेने से बच रहे है।

इसके बाद अदालत ने पुलिस को आदेश दिया कि वह प्रदर्शन का वीडियो बनाए और आवश्यकता पड़ने पर ड्रोन कैमरों का भी इस्तेमाल करे ताकि कोई गैरकानूनी घटना होने पर रैली का आयोजन कर रहे राजनीतिक दलों के नेताओं की जिम्मेदारी तय की जा सके। उसने मामले की सुनवाई 30 दिसंबर तक के लिए स्थगित कर दी। द्रमुक और उसके गठबंधन सहयोगियों ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि वे सीएए के विरोध में 23 दिसंबर को यहां एक महारैली निकालेंगे।
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन सोसायटी...

भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास—

अम्बेडकरनगर भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास--- रिपोर्ट अमित सिंह अम्बेडकरनगर खंड विकास अधिकारी से शिकायत के बावजूद भी ग्राम...

सिटीजन चार्टर के संबंध में ग्राम पंचायत चककोड़ार मे बैठक

  रिपोर्ट _अमित सिंह अम्बेडकरनगर  बृहस्पतिवार को ग्राम पंचायत चककोड़ार मे सिटीजन चार्टर के संबंध में बैठक की गई जिनमे ग्राम पंचायत के लोगों को सिटीजन...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -