Friday, March 5, 2021

प्रियंका वाड्रा की तर्ज पर स्मृति ईरानी ने लोगों के बीच चौपाल लगाई-

Must Read

उत्तर प्रदेश विधान सभा द्वारा रूपये 5,85,910,42,77,000 की धनराशि के लिए विनियोग विधेयक, 2021 पारित

उत्तर प्रदेश विधान सभा द्वारा रूपये 5,85,910,42,77,000 की धनराशि के लिए विनियोग विधेयक, 2021 पारित उत्तर प्रदेश के वित्त, चिकित्सा...

नर्सिंग का काम किसी डॉक्टर से कम नही-नर्सिंग सेवा तथा समर्पण का प्रतीक- डॉ शीला तिवारी

नर्सिंग का काम किसी डॉक्टर से कम नही-नर्सिंग सेवा तथा समर्पण का प्रतीक- डॉ शीला तिवारी   नर्सिंग सिर्फ एक पेशा...

-रंग ला रही खुशहाल परिवार दिवस की पहल

  -रंग ला रही खुशहाल परिवार दिवस की पहल - नवम्बर से नई पहल के तहत हर माह की 21 तारीख...

रिपोर्ट-गौरव बाजपेयी-स्टार न्यूज़ भारत

इतिहास को पलट देने वाली साहसी व जोश से भरी व अमेठी में इतिहास रचकर कमल खिलाने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के निशाने पर अब कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा हैं।

शनिवार को स्मृति ईरानी का अमेठी दौरा कुछ यही संकेत दे गया। प्रियंका वाड्रा की तर्ज पर स्मृति ईरानी ने लोगों के बीच चौपाल लगाई। उनके दुख दर्द सुने और उनके निराकरण कराने के निर्देश दिए।बस इरादा साफ है कि जिस तरह प्रियंका लोगों के बीच जाकर सियासी मेसेज देने की कोशिश करती थी,

उसी फार्मूले को अब स्मृति ईरानी ने अपनाकर राहुल को हराने के बाद नई जमीन तलाशने की संकेत दिया है। सलोन विधानसभा क्षेत्र भले ही अमेठी संसदीय क्षेत्र मे आता है, लेकिन यह रायबरेली का हिस्सा है। सलोन के जरिये सांसद रायबरेली वासियों को जनता का हितैषी होने का मैसेज देने का काम कर रही है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में अमेठी की सरजमीं पर आई और गांधी परिवार के गढ़ में पहली बार ही चुनावी मैदान में उतरी। चुनाव भले ही न जीत पाई हों, लेकिन उन्होंने राहुल गांधी को कड़ी टक्कर दी थी। चुनाव हारने के बाद वह अमेठी संसदीय क्षेत्र में सक्रिय रही। आम जनता के बीच जाकर यहां दौरे करके सीधा संवाद करती रहती थी। साथ ही राहुल गांधी पर हमलावर रहती थी।

2019 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने इतिहास रचते हुए राहुल गांधी को हरा दिया। चुनाव जीतने के बाद भी स्मृति ईरानी अमेठी में सियासी जमीन को मजबूत करने में जुटी हैं।

रायबरेली और अमेठी में जिस तरह प्रियंका वाड्रा चौपाल लगाकर लोगों से सीधा संवाद करती थी उसी तर्ज पर अब स्मृति ईरानी भी चौपाल लगाकर जनता से सीधा संवाद करने के नए सियासी राजनीति की शुरुआत कर दी है। साफ जाहिर है इस बात से कि उनका निशाना प्रियंका वाड्रा पर है। वह मेसेज देना चाहती हैं कि आगे भी वह अमेठी के साथ रायबरेली में पार्टी की मजबूती के लिए सक्रिय रहेंगी और इसी के जरिए अपने विरोधियों को जवाब भी देती रहेंगी। यही वजह है कि इसी साल की 23 जून को स्मृति ईरानी अमेठी संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आई थी। अब छह जुलाई को ही फिर अमेठी संसदीय क्षेत्र की जनता के बीच पहुंच गई।

यूपी 2022 मिशन की तैयारी अभी से लोकसभा चुनाव भले ही संपन्न हो गया हो लेकिन यूपी में 2022 में होने वाले विस चुनाव में किला फतह करने की चाहत भाजपा में अभी से दिख रही है। अमेठी में इस बार कमल खिलाने के बाद गांधी परिवार के गढ़ में इन दिनों पार्टी को और मजबूत करने पर जोर दिया जा रहा है। केंद्रीय स्मृति ईरानी का एक पखवारे में दूसरा दौरा इसी लिहाज से देखा जा रहा है।

अपने दौरे के बहाने स्मृति ईरानी ने न सिर्फ आम जनता से मिलकर उनके दुख दर्द जाने, बल्कि उन्हें अपनेपन का अहसास भी कराया जा सके। केंद्रीय स्मृति ईरानी ने अपने दौरे के दौरान पार्टी पदाधिकारियों के साथ ही कार्यकर्ताओं से भी मिली। सभी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया।

जिस पर स्मृति ईरानी ने भी उनका अभिवादन किया स्मृति ईरानी ने कार्यकर्ताओ से बेहतर ढंग से कार्य करके पार्टी को और मजबूत करने का आह्वान किया ताकि कॉंग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले अमेठी में हमेशा कमल ही खिलता रहे पार्टी को मजबूती मिल सके।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

उत्तर प्रदेश विधान सभा द्वारा रूपये 5,85,910,42,77,000 की धनराशि के लिए विनियोग विधेयक, 2021 पारित

उत्तर प्रदेश विधान सभा द्वारा रूपये 5,85,910,42,77,000 की धनराशि के लिए विनियोग विधेयक, 2021 पारित उत्तर प्रदेश के वित्त, चिकित्सा...

नर्सिंग का काम किसी डॉक्टर से कम नही-नर्सिंग सेवा तथा समर्पण का प्रतीक- डॉ शीला तिवारी

नर्सिंग का काम किसी डॉक्टर से कम नही-नर्सिंग सेवा तथा समर्पण का प्रतीक- डॉ शीला तिवारी   नर्सिंग सिर्फ एक पेशा नहीं बल्कि सेवा और समर्पण...

-रंग ला रही खुशहाल परिवार दिवस की पहल

  -रंग ला रही खुशहाल परिवार दिवस की पहल - नवम्बर से नई पहल के तहत हर माह की 21 तारीख को हो रहा आयोजन - तीन...

लखनऊ में यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए सात दिवसीय कैप्सूल कोर्स प्रारंभ

  *यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए सात दिवसीय कैप्सूल कोर्स प्रारंभ* आज दिनांक 15 -02-2021 से सदर कैंट स्थित यातायात पुलिस लाइन मैं यातायात व्यवस्था...

अंडरगारमेंट्स में छुपा कर ला रहे यात्री से 1 करोड़ के ऊपर का सोना पकड़ा गया-लखनऊ एयरपोर्ट का मामला

लखनऊ एयरपोर्ट पर कस्टम को बड़ी सफलता मिली है। दुबई से लखनऊ पहुंचे चार यात्रियों के पास 3 किलो ग्राम सोना मिला है। विमान...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -