Thursday, October 21, 2021

जिनको पाल-पोश कर बड़ा किया वही बेटा सड़क पर छोड़ दिया-बूजुर्ग माँ बाप का दर्द,जरूर पढ़ें आपकी आंखें भी नम हो जाएंगी

Must Read

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत...

क्या योगी आदित्य नाथ उत्तर प्रदेश के चीफ मिनिस्टर दोबारा बनने चाहिए?

दास्तां-ए–माँ-बाप और नई पीढ़ी-

रिपोर्ट-गौरव बाजपेयी

जो लोग समाज में बड़ी बड़ी बाते कहकर आदर्श प्रस्तुत करते हैं जब कि हक़ीक़त तो कुछ और ही बयां करती हैं,जब हमारी स्टार न्यूज भारत की टीम ने खंगाला समाज के एक ऐसे मामले से रूबरू हुए जिसमे वृद्ध होने पर उनके ही अपने बच्चो के द्वारा बेहतर परवरिश करने की सज़ा दी जा रही हैं ?

यह दावा हैं हमारी स्टार न्यूज भारत का कोई कितना भी कठोर हृदय क्यों न हो आप रो पड़ोगे, इनकी दासता सुनकर कलेजा पसीज जाएगा माँ -बाप को बच्चो के द्वारा भले ही कितनी प्रताड़नाये झेलने को मिलती हो उसके बावजूद भी वो अपने बच्चो के लिए कभी कुछ गलत नही सोचते उनकी प्रताड़नाओं के बदले सिर्फ आशीर्वाद ही देते हैं।जन्म से ही माँ-बाप खुद की सारी खुशियां अपनी संतानों पर कुर्बान कर देते है,ताकि उनके बच्चो के सारे ख्वाब हसरते पूरी हो सके अपने बारे में बिन कुछ सोचे लेकिन वे ही संताने जब कुछ लायक हो जाती हैं तो वही माता-पिता खटकने लगते हैं।

प्रश्न पूछने पर तो संताने कहती हैं कि ये तो ज़िम्मेदारी थी तो कौन सा एहसान कर दिया? वाह रे इंसान क्या संतान का कोई फ़र्ज़, ज़िम्मेदारी नही अपने माता-पिता के प्रति ?छोड़ आते हैं माँ-बाप को सबकुछ होते हुए भी आखिर उनका कसूर क्या है? वृद्धाआश्रम
सच मे झकझोर देती है उन बूढ़े माँ बाप की सिसकिया एक बार तो सुनकर देखो वो आपसे या किसी से बया नही करेगे अपने दर्द को क्यों कि आप उनके कलेजे के टुकड़े जो हो जब होगा तो सिर्फ आपकी सलामती की ही दुआ करेगे जब कि आपने भले कितना ही कितना दिल दुखाया हो,प्रताड़ित किया हो फिर भी वो बूढ़े माँ-बाप ही हैं जो वास्तव में ईश्वर हैं

इस दुनिया मे इसलिए उनको समझने की कोशिश करो क्यों कि वृद्धावस्था में उनको सही मायने में आपकी जरूरत हैं जो आपकी सारी जरूरतो को पूरी करते आये बिना कुछ सोचे।जिनको अपने सिसकते हुए मजबूर व वृद्ध माँ बाप की आवाज़ नही सुनाई देती, या उनके गिरते हुए खून के आंसू नही दिखते? या रोटी न मिलने पर भी भूखे पेट रोते-बिलखते हुए माँ-बाप नही दिखते?
शायद ये ही वो शब्द है जिनमे पूरी सृष्टि ब्रह्मांड समाया हुआ हैं ये ही वो माता -पिता हैं जिन्होंने अपने बच्चो को छोटी-छोटी खुशियां देने के लिए अपना सबकुछ न्यौछावर कर दिया बदले में वही संताने बडी होकर उनको छोटी सी भी खुशी न देकर साथ रखकर सुकून की दो रोटियां तक नही दे पाती बल्कि उनको इतनी तकलीफे,ताने,देना चालू कर देते हैं कि वो मजबूर होकर स्वयं ही घर छोड़ दे या तो प्रताड़ना सहन करते हुए ही उनको उनके ही बच्चे वृद्धा आश्रम का रास्ता दिखा आते हैं।

आखिर क्या कसूर हैं उन माँ बाप का जो सिर्फ अपनी खुशियों का गला घोटते हुए बिना खुद की खुशियों की परवाह किये,आपकी तकलीफो में सारी रात जगकर बिन सोये,आपकी हर मुराद कैसे भी पूरी करते आये आपकी एक अच्छी परवरिश की?आपकी एक हसी के लिए क्या कुछ नही किया उन माता पिता ने कमसकम एक बार सोचो आज नई पीढ़ी जैसे जैसे बढ़ रही है वो वही अपना कर चल रहे हैं ये भूल कर कि यही सब उनकी संताने भी कल उनके साथ करने वाली हैं क्यों कि उनको ये पता ही नही है कि उनके बुजुर्ग दादा-दादी से उनके बच्चों का बर्ताव कैसा है वो कितनी पीड़ा देते हैं उनको और वास्तविक चेहरा अपने माता पिता का देखते हैं जिसको ही वो सीखते हैं और वही चक्र अपने माता-पिता पर अपनाते हैं क्यों कि बच्चो को जो जैसा दिखेगा अपनाएंगेक्या फायदा ऎसी किताबो से जिनमे एक छोटी सी बात भी हम नही सीख सके ?

क्या सिखा रहे हैं हम अपने बच्चो को यही कि जो हम आज अपने माता-पिता के साथ कर रहे हैं वही भविष्य में हमारे साथ भी होगा जिसके लिए हम तैयार रहे क्यों कि –
“बोया पेड़ बबूल का,तो आम कहाँ से होय”
क्या हम नई पीढ़ी को यही शिक्षा दे रहे हैं?

समाज की धारणा को बदलना चाहिए हम अपने ही माँ बाप के प्रति वफादार नही तो क्यो आदर्शों की बात करते है ? आपके कमेंट बहुत आवश्यक हैं इसलिए कमेंट जरूर करे।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

लखनऊ ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में पकड़ी अवैद्ध शराब गाड़ी छोड़कर चालक फरार

लखनऊ ब्रेकिंग ट्रैफिक कर्मियों ने भारी मात्रा में अवैद्ध शराब पकड़ी चिनहट तिराहे पर चेकिंग के दौरान शक होने पर...

मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को सौंपी आवास की चाभी

लोगों के आशियाने के सपने को पूरा कर रही मोदी और योगी सरकार: नन्दी मंत्री नन्दी और महापौर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को...

सृष्टि अपार्टमेंट्स में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ ध्वजारोहण एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम

सृष्टि अपार्टमेंट में बड़े उत्साह से मनाया गया राष्ट्रीय पर्व 15 अगस्त। आज सृष्टि अपार्टमेंट वासियों द्वारा ध्वजारोहण के उपरांत सास्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन सोसायटी...

भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास—

अम्बेडकरनगर भीटी ब्लाक गाव के एक ही परिवार के 4 सदस्यों को दिया गया आवास--- रिपोर्ट अमित सिंह अम्बेडकरनगर खंड विकास अधिकारी से शिकायत के बावजूद भी ग्राम...

सिटीजन चार्टर के संबंध में ग्राम पंचायत चककोड़ार मे बैठक

  रिपोर्ट _अमित सिंह अम्बेडकरनगर  बृहस्पतिवार को ग्राम पंचायत चककोड़ार मे सिटीजन चार्टर के संबंध में बैठक की गई जिनमे ग्राम पंचायत के लोगों को सिटीजन...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -