Editorial front post Politics

संजय निरुपम के खिलाफ फिर गुटबाजी शुरू , पुराने व वरिष्ठ कांग्रेसी नेता हो रहे हैं एकजुट

Share this news

 

श्यामजी मिश्रा। 

कांग्रेस हाईकमान ने गुटबाजी को खत्म करने व कांग्रेस का खोया हुआ जनाधार वापस लाने के लिए एक जुझारू और कर्मठ नेता की जरूरत थी जो कार्यकर्ताओं में जोश भर सके। और कांग्रेस हाईकमान ने मुंबई कांग्रेस का अध्यक्ष संजय निरुपम को बनाया । संजय निरुपम अध्यक्ष बनने के बाद सभी वर्गो को ध्यान में रखते हुए मुंबई प्रदेश की नई कार्यकारिणी बनाई।

संजय निरूपम ने जब से मुंबई अध्यक्ष पद संभाला है तब से अपने विरोधियों को लेकर कई उतार-चढ़ाव देखे और वर्तमान समय में भी वही हाल है। सूत्रों की मानें तो अब मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम के खिलाफ सभी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता (पुराने) एकजुट हो रहे हैं। इन वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं का कहना है कि संजय निरुपम उन्हीं लोगों को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं जिन्हें कांग्रेस की विचारधारा का कोई ज्ञान नहीं है तउन लोगों का कोई जनाधार नहीं है जिसके सहारे कोई भी चुनाव जीता जा सके।

जिस तरह से मुंबई कांग्रेस दर्शन पत्रिका को लेकर विरोधियों ने संजय निरुपम पर हमला बोला था उस समय राजनीतिक गलियारों में चर्चा थी कि संजय निरुपम का अब विकट गिरेगा, परंतु कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने संजय निरुपम को जीवनदान देकर विरोधियों के मुँह पर ताला जड़ दिया। अब देखना यह है कि पुराने व वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं की एकजुटता क्या गुल खिलाती है। वैसे देखा जाए तो अभी हाल ही में राजीव गांधी की जयंती के उपलक्ष्य में मुंबई कांग्रेस की तरफ से एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिनमें कांग्रेस के बहुत से पदाधिकारी अनुपस्थिति थे, जिनमें जिलाध्यक्ष, ब्लॉक अध्यक्ष व नगरसेवकों का समावेश है। अब इन पदाधिकारियों को मुंबई कांग्रेस की तरफ से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

जिन लोगों को नोटिस जारी किया गया है अब वे भी संजय निरुपम के खिलाफ लामबंदी शुरू कर दी है। सूत्रों की माने तो संजय निरुपम के खिलाफ एक्जीक्यूटिव मेंबर कॉल कराने की फिराक में हैं। इस एक्जीक्यूटिव कॉल मेंबर में 17 वोटर हैं, जिनमें 6 जिलाध्यक्ष, उपाध्यक्ष, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष, मनपा के विरोधीी पक्ष नेता, महिला कांग्रेस अध्यक्षा, कांग्रेस सेवादल अध्यक्ष, यूथ कांग्रेस अध्यक्ष शामिल हैं। आपको बता दें कि जब सीताराम केसरी कांग्रेस अध्यक्ष थे तब उनके विरोध में भी एक्जीक्युटिव मेंबर कॉल किया गया था और सीताराम केसरी को कांग्रेस अध्यक्ष पद गंवाना पड़ा था।

अब देखना यह है कि क्या संजय निरुपम के खिलाफ एक्जीक्यूटिव मेंबर कॉल किया जायेगा ? या सिर्फ चर्चा का विषय बनकर रह जाता है। वैसे ये कहना गलत नहीं होगा कि संजय निरुपम जब से मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष बने हैं तब से अपनी दूरदर्शिता का परिचय देते हुए उन्होंने हर तबके के लोगों को मुंबई कांग्रेस में जगह देकर एक जम्बों कार्यकारिणी बनाई। निरूपम ने मुंबई कांग्रेस के सभी कार्यकर्ताओं को एक जुट करके धरना प्रदर्शन के माध्यम से कार्यकर्ताओं में जोश भर रहे हैं और मृतप्राय पार्टी में जान भी फूंकने की कोशिश कर रहे हैं । परन्तु गाहे-बगाहे गुटबाजी का शिकार संजय निरुपम को होना ही पड़ रहा है।

उत्तर मुंबई जिला अध्यक्ष पद के लिए शिवा शेट्टी के नाम पर है वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं को नाराजगी

मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर तो वैसे कई उत्तर भारतीय नेता रह चुके हैं। और वर्तमान समय में संजय निरुपम इस पद पर विराजमान हैं। निरूपम को मुंबई प्रदेश अध्यक्ष बनाने की एक वजह ये भी हो सकती है कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव में जिस तरह से उत्तर भारतीय वोटर भाजपा की तरफ मुड़ गए थे उन वोटरों को कांग्रेस की तरफ लाना भी हो सकता है।

निरूपम के अध्यक्ष बनने के बाद उत्तर मुंबई जिला में किसी एक उत्तर भारतीय नेता को जिलाध्यक्ष बनाया जायेगा ऐसी चर्चा थी। परंतु वर्तमान समय में जिस तरह से राजनीतिक समीकरण बन रही है उससे लगता है कि आने वाले वक्त में कोई उत्तर भारतीय नेता को नहीं बल्कि किसी मराठी या गुजराती नेता को बनाया जा सकता है।

कांग्रेस से जुड़े उत्तरभारतीय समाज में अब सवाल उठने लगा हैं कि उत्तर मुंबई जिला में भाजपा जैसी पार्टी जब उत्तर भारतीय नेताओं को जिलाध्यक्ष बना सकती है तो कांग्रेस पार्टी क्यों नहीं ? जबकि भाजपा की अपेक्षा कांग्रेस पार्टी में उत्तर भारतीयों का झुकाव ज्यादा है और वोटर भी उत्तर भारतीय ज्यादा हैं । उत्तर मुंबई जिला में अब तक कांग्रेस पार्टी की तरफ से रत्ना पिल्लै, पी. यू. मेहता, जबकि रामदास सूत्राले 20 साल तक जिलाध्यक्ष पद पर थे और अब 10 साल से अशोक सूत्राले इस पद पर विराजमान हैं।

गुरुदास कामत जब मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष थे तब उन्होंने मुंबई प्रदेश कांग्रेस कमेटी से लेकर सभी जिलों में अपने गुट के लोगों को ही जिलाध्यक्ष पद पर नियुक्ति की थी। जब कृपाशंकर सिंह मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष बने तब न ही मुंबई कांग्रेस कमेटी में ही कोई खास परिवर्तन कर पाए न ही जिला स्तर पर। क्योंकि गुरूदास कामत लाबी हमेशा हाबी रही। उसके बाद जनार्दन चांदुरकर मुंबई अध्यक्ष बने और गुरुदास कामत का रबर स्टैंप बन कर रह गए। कांग्रेस पार्टी के लिए चांदुरकर भी कुछ खास नहीं कर पाए । उसके बाद कांग्रेस पार्टी न तो लोकसभा चुनाव में और न ही विधानसभा चुनाव में कोई खास प्रदर्शन कर पाई।

मुंबई प्रदेश के सभी जिलों में अभी जिलाध्यक्षों की नियुक्ति करना बाकी है। अब जिलाध्यक्ष पद पाने के लिए के कांग्रेस नेता लॉबिंग शुरू कर दिए हैं। वर्तमान समय में उत्तर मुंबई जिला में इस पद के लिए कई गुट अपने अपने स्तर पर सक्रिय हैं। इस समय जिलाध्यक्ष पद के लिए शिवा शेट्टी के नाम की चर्चा ज्यादा है।

जबकि शिवा शेट्टी के बारे में लोगों का कहना है कि शिवा शेट्टी का पिछला रिकॉर्ड अच्छा नहीं है वे हमेशा अवैध-बांधकामों में संलिप्त रहे हैं और कई आरोप भी उन पर लगाए जा चुके हैं तथा आठवीं कक्षा तक पढ़ाई करने वाले शिवा शेट्टी का उत्तर मुंबई जिला में कोई जनाधार भी नहीं है तो ऐसे में कैसे मुंबई कांग्रेस उनको जिला अध्यक्ष बना सकती है। आपको बता दें कि इसके पहले भी उत्तर मुंबई जिलाध्यक्ष के लिए कई नामों की चर्चा थी, परन्तु आया राम गया राम हो गया था ।

वैसे देखा जाए तो आज तक उत्तर मुंबई जिला में कांग्रेस पार्टी का एक भी जिलाध्यक्ष उत्तर भारतीय नेता को नहीं बनाया गया है, जबकि कई उत्तर भारतीय नेता इस पद के लिए सक्षम हैं। जिनमें डॉ. किशोर सिंह, राजपति यादव, लालजी दूबे और आनंद राय जैसे कई नेता मौजूद हैं जिनकी उत्तर भारतीय समाज में पकड़ भी है। परन्तु अब उत्तर मुंबई जिला में कई गुट ऐसे हैं जो किसी मराठी या गुजराती नेता को जिलाध्यक्ष बनवाने के लिए सक्रिय हैं।

उनकी इसी सक्रियता की वजह से उत्तरभारतीय नेताओं में भी अब शुगबुगाहट शुरू हो गई है। उन लोगों का कहना है कि उत्तर मुंबई जिला एक ऐसा जिला है जिसमें रहने वाले उत्तरभारतीयों की संख्या ज्यादा है जो अधिकांशतः उत्तर भारतीय कांग्रेस पार्टी को सपोर्ट करते हैं या वोटर हैं। गौरतलब हो कि जब पहली बार संजय निरुपम उत्तर मुंबई जिला से लोकसभा चुनाव लड़े थे तब ज्यादा से ज्यादा उत्तर भारतीयों ने सपोर्ट किया था और चुनाव जीत गए थे।

Shares 0

Featured News

MonTueWedThuFriSatSun
   1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  
       
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293031    
       
     12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
       
  12345
6789101112
13141516171819
20212223242526
2728293031  
       
      1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
3031     
    123
45678910
       
 123456
28293031   
       
      1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30      
   1234
567891011
12131415161718
19202122232425
262728293031 
       
   1234
19202122232425
262728    
       
1234567
891011121314
15161718192021
293031    
       
    123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031
       
  12345
6789101112
20212223242526
27282930